अकीरा रेनसमवेयर – कैसे करे बचाव? (Akira)

Ministry of Electronics and Information Technology के तहत काम करने वाली Indian Computer Emergency Response Team (CERT-In) ने रेनसमवेयर अकीरा को लेकर चेतावनी दी है। जो कंप्यूटर व लैपटॉप उपयोगकर्ताओं के फ़ाइलों को एनक्रिप्ट करके उपयोगकर्ताओं से एक रंगीनियत राशि मांगने के लिए उत्पन्न किया जाता है। यह वायरस उपयोगकर्ता के सिस्टम को संक्रमित करता है, फ़ाइलों का नाम बदलता है, और तोड़फोड़ किए गए फ़ाइलों के बचाव की आवश्यकता में उपयोगकर्ताओं को डराता है। यदि उपयोगकर्ता राशि का भुगतान नहीं करता है, तो उनके डाटा को डार्क वेब पैर डाल दिया जाता है। यह अकीरा रेनसमवेयर (Ransomware Akira) विंडोज को टारगेट कर रहा है। इस पोस्ट में हम जानेंगे अकीरा रेनसमवेयर क्या है और इससे बचाव कैसे केर सकते हैं। 

क्या है "अकीरा" कैसे करे बचाव ?

रैनसमवेयर क्या है? What is Ransomware

* रैनसमवेयर एक प्रकार का मैलवेयर है जिसका उपयोग फिरौती का भुगतान होने तक महत्वपूर्ण प्रणालियों और डेटा तक पहुंच को अक्षम करने के लिए किया जाता है।

रैनसमवेयर के प्रकार Types of Ransomware

1- Crypto Ransomware :

इस प्रकार के रैंसमवेयर कंप्यूटर पर फ़ाइलों को एन्क्रिप्ट करते हैं ताकि उपयोगकर्ता आवश्यक फ़ाइलों तक पहुंच खो दे।

2 – Locker Ransomware :

इस प्रकार के रैंसमवेयर उपयोगकर्ता को उनके डिवाइस से लॉक कर देते हैं और उन्हें डिवाइस का उपयोग करने से रोकते हैं।

एन्क्रिप्शन(Encryption) क्या होता है ? 

क्रिप्टोग्राफी में, एन्क्रिप्शन एक एल्गोरिदम का उपयोग करके डेटा को बदलने की एक प्रक्रिया है। यह प्रक्रिया केवल कुंजी नाम की विशिष्ट जानकारी रखने वाले लोगों के लिए पढ़ने योग्य बनाती है।

CERT-IN क्या है

भारतीय कंप्यूटर आपातकालीन प्रतिक्रिया दल भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अधीन कार्य करती है। यह साइबर सुरक्षा खतरों, जैसे हेकिंग और फ़िशिंग, को नियंत्रित करने के लिए नोडल एजेंसी है। यह एजेंसी भारत के इंटरनेट डोमेन की सुरक्षा को मजबूत करती है।

स्थापना : 19 जनवरी 2004

मुख्यालय : न्यू दिल्ली

इसे भी जाने – कोका कोला पीने से हो सकता है कैंसर ! – WHO की रिपोर्ट

CERT-IN के अनुसार :

* यह साइबर अपराधियों की गैंग अपने शिकार की पहचान वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क(VPN) के जरिए कर रही है

Virtual Private Network : यह डाटा को एंक्रिप्ट करके आपके IP address को इंटरनेट पर छुपाता है जो आपको इंटरनेट पर गुमनाम बनाकर ऑनलाइन गतिविधियों को सुरक्षित रखती है। इससे आप अपनी पर्सनल डेटा और गोपनीयता को सुरक्षित रख सकते हैं।

* Akira पूरी कंप्यूटर प्रणाली को कर रहा ब्लॉक : रेनसमवेयर एक प्रकार के कंप्यूटर प्रोग्राम हैं, जो अपने शिकार के डाटा या पूरी कंप्यूटर प्रणाली को ही ब्लॉक करके यूजर को इसे उपयोग करने से रोक सकते हैं। यह अपने शिकार कंप्यूटर की फाइलों कब्जे में लेने के बाद उसे नया एक्सटेंशन ‘डॉट अकीरा(. Akira)’ दे डालता है।अकीरा रेनसमवेयर - कैसे करे बचाव? (Akira)

अकीरा रेनसमवेयर से कैसे करें बचाव ?

* Akira Virus आपके लैपटॉप और मोबाइल समेत अन्य डिवाइस में AnyDesk, WinRAR और PCHunter जैसे टूल से एंट्री लेता है ऐसे में इन टूल का संभलकर इस्तेमाल करना चाहिए।

* इससे बचने का दूसरा तरीका यह है कि नियमित अंतराल पर अपनी डिवाइस को अपडेट करते रहना चाहिए इससे साइबर अपराधी पुरानी कमियों का सहारा लेकर कंप्यूटर में घुसपैठ नहीं कर पाएंगे।

* अपने कंप्यूटर, लैपटॉप और मोबाइल में हमेशा एंटी वायरस का इस्तेमाल करने से भी मालवेयर से सुरक्षा मिलती है।

* रेनसमवेयर वायरस कंप्यूटर डाटा को कब्जे में लेते हैं, ऐसे में जरूरी डाटा का ऑफलाइन बैकअप भी रखें।

Ransomware Attack : Important Data

* भारत Ransomware से तीसरा सबसे ज्यादा प्रभावित देश है जहां लगभग 4०००० कंप्यूटर इससे प्रभावित थे।

* RBI ने बैंकों पर फाइन लगाया है क्योंकि सिक्योरिटी लैप्स की वजह से 12.48 Core रूपये हैकर्स द्वारा चुराए गए। 

अकीरा रेनसमवेयर - कैसे करे बचाव? (Akira)

* इसी प्रकार 2016 में CopyCat Malware के द्वारा 1.4 Core Android Phones प्रभावित हुए थे जिसमे हैकर्स ने दो महीने में 10 Core रुपये बनाये। 

* हाल ही में सरकार द्वारा राज्यसभा में कहा गया है कि AIIMS के 5 सर्वर्स Cyberattack मे हैक्ड हुए थे जिसमे 1.3 TB डाटा एन्क्रिप्टेड किया गया था हालांकि Cyber Security Team द्वारा इस अटैक को Neutralize कर दिया गया। 

अकीरा रेनसमवेयर - कैसे करे बचाव? (Akira)

* इन सब को ध्यान में रखकर भारत सरकार द्वारा बजट 2023 में 600 Core रुपये साइबर सिक्योरिटी इंफ़्रा को मजबूत करने के लिए दिए गए।

FAQ

1- Hackers से कैसे बचे ?

अपना पर्सनल Data, किसी अंजानी पर क्लिक न करे , OTP, Bank Details किसी से भी साझा ना करे।

2- कैसे पता करे कि हमारा फोन Hack हो गया है ?

यदि आपका फोन Hack हो गया है तो आपका फोन सही से काम नही करेगा, स्विच आफ करने पर भी फोन की बैटरी गरम रहेगी।

Leave a Comment